बीएसएफ ने इन्सानियत दिखाते हुए एक बांग्लादेशी स्त्री की सहायता

बीएसएफ ने  इन्सानियत दिखाते हुए एक बांग्लादेशी स्त्री की सहायता

बीएसएफ ने शुक्रवार को इन्सानियत दिखाते हुए एक बांग्लादेशी स्त्री की सहायता की. दरअसल एक बांग्लादेशी स्त्री का भाई दोनों राष्ट्रों के बीच अंतर्राष्ट्रीय सीमा के भारतीय पक्ष की निवासी है. अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर होने के कारण स्त्री को मृत भाई के आखिरी दर्शन करने में काफी कठिनाई आ रही थी.



गुरुवार को जब मालदा जिले के सीमावर्ती गांव किस्तोपुर के लोगों ने सीमा सुरक्षा बल निवासी अब्दुल खालिक की मृत्यु की सूचना सीमा सुरक्षा बल को दी तो मानवीय आधार पर स्त्री की सहायता की गई.

सीमा सुरक्षा बल के बयान में बोला गया है कि ग्रामीणों ने निवेदन किया कि मृतक की बहन, जो बांग्लादेश के सीमावर्ती गांव चांदशिकरी में रहती है, वह अंतर्राष्ट्रीय सीमा से लगभग एक किमी दूर है. उसको अपने भाई के आखिरी दर्शन करने और उसे सम्मान देने की अनुमति दी जाए.

इसमें बोला गया है कि सीमा पर तैनात बल के ऑफिसरों ने अपने उच्च ऑफिसरों से बात की और बांग्लादेश में रहने वाले संबंधियों के लिए 12 मई को अंतर्राष्ट्रीय सीमा के पास जीरो लाइन पर मृतक को श्रद्धांजलि देने की व्यवस्था की गई.